Skip to main content

इन 5 इनकम पर नहीं लगता टैक्‍स, बचाने के लिए ऐसे शुरू करें प्‍लानिंग

नई दिल्ली। नए फाइनेंशियल ईयर 2017-18 के लिए टैक्‍स प्‍लानिंग का समय आ गया है। कंपनियों ने अपने कर्मचारियों ने नए फाइनेंशियल ईयर के लिए इन्‍वेस्‍टमेंट डिक्‍लेयरेशन मांगना भी शुरू कर दिया है। ऐसे में हम आप आपको ऐसी 5 इनकम के बारे में बता रहे हैं जिन पर इनकम टैक्‍स नहीं लगता है। आपको टैक्‍स बचाने के लिए अभी से प्‍लानिंग शुरू कर देनी इससे आपको टैक्‍स बचाने में मदद मिलेगी।


इक्विटी इन्‍वेस्‍टमेंट पर लॉंग टर्म कैपिटल गेन
BankBazaar.com के सीईओ आदिल शेट्टी के मुताबिक इक्विटी में इन्‍वेस्‍टमेंट के जरिए अधिक रिटर्न मिलने की संभावना रहती है। इक्विटीज या इक्विटी म्‍यूचुअल फंड की बिक्री से होने वाले लॉंग टर्म कैपिटल गेन पर टैक्‍स नहीं लगता है। हालांकि इसके लिए जरूरी है कि सिक्‍युरिटी ट्रांजैक्‍शन टैक्‍स का भुगतान किया गया हो।

इक्विटी में कैसे करें निवेश


इक्विटी में कैसे करें निवेश
आप स्‍टॉक मार्केट, आईपीओ, म्‍यूचुअल फंड और इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग स्‍कीम ईएलएसएस के जरिए इक्विटी में निवेश कर सकते हैं। इक्विटी शेयर और इक्विटी म्‍यूचुअल फंड अगर आप एक साल के बाद बेचते हैं तो इसे लॉंग टर्म कैपिटल गेन माना जाता है। इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग स्‍कीमों में तीन साल का लॉक इन पीरिएड है। तीन साल के बाद इन स्‍कीमों से होने वाली इनकम को लॉग टर्म कैपिटल गेन माना जाता है।


लाइफ इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी पर मिलने वाले बेनिफिट

लाइफ इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी पर मिलने वाले बेनिफिट
लाइफ इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी न सिर्फ किसी तरह की अनहोनी होने पर वित्‍तीय सुरक्षा मुहैया कराती हैं बल्कि यह पॉलिसी होल्‍डर्स को कई जरह के बेनिफिट भी देती हैं जिन पर टैक्‍स नहीं लगता है। लाइफ इंश्‍योरेंस प्‍लान में जब प्‍लान की अवधि खत्‍म होती है तो पॉलिसी होल्‍डर को मैच्‍योरिटी बेनिफिट मिलता है। इसके अलावा पॉलिसी होल्‍डर्स की मौत होने पर डेथ बेनिफिट मिलता है। मनी बैक प्‍लान में प्‍लान की अवधि के दौरान मनी बैक बेनिफिट दिया जाता है। इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 10 (10 डी) के तहत ये सभी बेनिफिट टैक्‍स फ्री हैं।

प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) पर रिटर्न

प्रॉविडेंट फंड (पीएफ) पर रिटर्न
मौजूदा समय में दो तरह के प्रॉविडेंट फंड है। इम्‍प्‍लाई प्रॉविडेंट फंड ईपीएफ। यह सैलरी पाने वाले कर्मचारियों के लिए है और दूसरा पब्लिक प्रॉविडेंट फंड, जो कि सबके लिए खुला है। ईपीएफ पर मिलने वाला रिटर्न टैक्‍स फ्री है। इसके अलावा पीपीएफ अकाउंट की 15 साल में मैच्‍योरिटी पर मिलने वाला रिटर्न टैक्‍स फ्री है।

सेविंग अकाउंट पर मिलने वाला इंटरेस्‍ट

सेविंग अकाउंट पर मिलने वाला इंटरेस्‍ट
इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 80 टीटीए के तहत सेविंग अकाउंट पर मिलने वाला इंटरेस्‍ट टैक्‍स फ्री है। हालांकि आप सेविंग अकाउंट पर अधि‍कतम 10,000 रुपए तक के इंटरेस्‍ट पर ही टैक्‍स छूट ले सकते हैं। अगर आप के पास कई सेविंग अकाउंट हैं तब भी आप कुल 10, 000 रुपए इंटरेस्‍ट पर ही टैक्‍स छूट ले पाएंगे।

इक्विटी में निवेश पर मिला डिवीडेंड

इक्विटी में निवेश पर मिला डिवीडेंड
इक्विटी शेयरों और इक्विटी म्‍यूचुअल फंडों पर दिया जाना वाला डिवीडेंड टैक्‍स फ्री है। हालांकि इसकी भी एक लिमिट है। 10 लाख रुपए तक के डिवीडेंड पर कोई टैक्‍स नहीं लगता है।

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास
आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है?

सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केमिकल के कारण होता…

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST