Skip to main content

पेंशनभोगी के लिए घोषित 7 वां वेतन आयोग के लाभ, इस बड़े राज्य के निगम-मंडल कर्मचारियों के लिए

7 वें वेतन आयोग: मुख्य ध्यान, हालांकि, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार के क्षेत्रों पर था। राज्य के 2018 के विधानसभा चुनावों से पहले यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली सरकार का अंतिम बजट होगा। आज घोषणा के अनुसार, 7 वें वेतन आयोग की रिपोर्ट पेंशनभोगी और निगम मंडल के श्रमिकों को उपलब्ध कराई जाएगी

7th Pay Commission benefits announced for pensioners, Nigam-Mandal staff in this big state

7 वें वेतन आयोग: फिर भी एक अन्य राज्य ने अपने कर्मचारियों के लिए एक बड़ा लाभ की घोषणा की है। रिपोर्टों के मुताबिक, 7 वें वेतन आयोग की आंकाव उन श्रमिकों के लिए लागू की जाएगी, जो अभी तक इसके से वंचित थीं। विधानसभा में आज मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया द्वारा प्रस्तुत राज्य बजट 2018 में आज घोषणा की गई। मुख्य फोकस, हालांकि, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार के क्षेत्रों पर था। राज्य के 2018 के विधानसभा चुनावों से पहले यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली सरकार का अंतिम बजट होगा। आज घोषणा के अनुसार, 7 वें वेतन आयोग की रिपोर्ट पेंशनभोगी और निगम मंडल के श्रमिकों को उपलब्ध कराई जाएगी।

एक पूर्व की रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्र सरकार के कर्मचारी विशेषकर निचले स्तर के लोगों के लिए 7 वीं वेतन आयोग से संबंधित कुछ अच्छी खबरों की उम्मीद कर सकते हैं, क्योंकि रिपोर्ट बताती है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली उनके लिए न्यूनतम वेतन और फिटनेस फैक्टर बढ़ाने की योजना बना रहे हैं। अप्रैल 1, 2018 से प्रभावी होगा। सेन टाइम्स के मुताबिक, सरकारी कर्मचारियों, जो वेतन मैट्रिक्स स्तर 1 से 5 के वेतन प्राप्त करते हैं, 1 अप्रैल 2018 को 18,000 रुपये से न्यूनतम पे स्केल में 21,000 रुपये की वृद्धि करने की उम्मीद है। इन कर्मचारियों को कथित रूप से 6 वीं वेतन आयोग की मूल वेतन के 2.57 गुना से 3.00 गुना तक उनके फिटमेंट कारक में वृद्धि दिखाई देगी।


इस बीच, राज्य का आर्थिक सर्वेक्षण कल पेश किया गया था। आर्थिक सर्वेक्षण में पता चला है कि पिछले वर्ष की तुलना में राज्य में कृषि उत्पादन 2017-18 में गिरा था।

मध्य प्रदेश बजट 2018: यहां उनके बजट भाषण से मुख्य आकर्षण हैं:
एमपी बजट 2018:

- पेंशनभोगी, निगम-मंडल के श्रमिकों के लिए 7 वां वेतन आयोग के लाभ

- आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का वेतन बढ़ाया जाना चाहिए।

- खेल के विकास के लिए 224 करोड़ रुपये

- पुलिसकर्मियों के लिए परिवार क्वॉर्टर विकसित करने के लिए 240 करोड़ रुपये

- 700 नए हाई स्कूल और 480 नए वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय स्थापित करने का लक्ष्य

- 3,722 करोड़ रूपए महिला और बाल कल्याण के लिए

- सिंचाई के विकास के लिए 10,928 करोड़ रुपये

- 6 नए मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए

- कृषि क्षेत्र के लिए 37,000 करोड़ रुपये

- स्मार्ट सिटी के विकास के लिए 700 करोड़ रुपये

- सीवर नेटवर्क को विकसित करने के लिए 11932 करोड़ रुपये

- आयुष के लिए 438 करोड़ रुपये के बजट आवंटन

- राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) को 1175 करोड़ रुपये

शहरी क्षेत्रों में शुद्ध पेय जल के लिए 697 करोड़ रुपये

- ग्रामीण क्षेत्रों में साफ पेयजल के लिए 2986 करोड़ रुपये

- बजट का उद्देश्य 3,000 किलोमीटर की नई सड़कों का निर्माण करना है

- 'सर्व शिक्षा अभियान' के लिए 3, 109 करोड़ रुपए

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है? सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केम

कैसे खोलें डीमेट अकाउंट?

DEMAT अकाउंट कहाँ और कैसे ओपन किया जाता है, इस पोस्ट में हम जानेंगे- DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक DOCUMENTS DEMAT अकाउंट फ़ीस कितना होता है, DEMAT अकाउंट नॉमिनेशन आइये सबसे पहले देखते है-  DEMAT अकाउंट कहा ओपन किया जाता है, भारत में SEBI द्वारा बनाए गाइडलाइन के अनुसार Demat Account सर्विस दो प्रमुख संस्थाओ द्वारा दी जाती है, ये दोनों संस्था है, NSDL (The National Securities Depository Limited) CDSL (Central Depository Services (India) Limited) अगर आपने ध्यान दिया होगा, तो आपको  पता होगा कि, PAN CARD भी इन्ही दोनों संस्थाओ में प्रमुख रूप से NSDL द्वारा बनाया गया होता है, और हो सकता है आपने पैन कार्ड के सम्बन्ध में NSDL का नाम पहले जरुर सुना होगा, खैर बता दे कि जिस तरह PAN CARD बनाने के लिए आप किसी एजेंट की मदद से ऑनलाइन एप्लीकेशन देते है, और कुछ दिनों में आपका पैन कार्ड बन जाता है, वैसे ही आपको DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आपको डायरेक्टली NSDL और CDSL के पास जाने की जरुरत नहीं , और आप DEMAT अकाउंट खोलने का एप्लीकेशन किसी भी प्रमुख बैंक और स्टॉक ब्रोकर के पास कर सकते है, और अगर बात की जा