Skip to main content

दुल्हन सी सजी हुई थीं श्रीदेवी, राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई

Sridevi Funeral LIVE UPDATES: श्रीदेवी की अंतिम यात्रा शुरू हो गई है। तिरंगे में लिपटे उनके शव को सफेद फूलों से सजे ट्रक में रख कर विले पार्ले के पवन हंस श्मशान में ले जाया जा रहा है।  इस ट्रक पर श्री देवी के पति बोनी कपूर के साथ अनिल कपूर उनकी बेटियां और परिवार के लोग हैं। बता दें कि अपने उम्दा अभिनय से बॉलीवुड में खास मुकाम हासिल करने वाली एक्ट्रेस श्रीदेवी का शनिवार (24 फरवरी) की रात कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन हो गया। अपने आखिरी पलों में 54 वर्षीय श्रीदेवी दुबई में थी। वह अपनी छोटी बेटी खुशी और पति बोनी कपूर के साथ एक शादी अटेंड करने के लिए दुबई पहुंची थीं। उनके निधन की पुष्टी बोनी कपूर के भाई संजय कपूर ने की। उन्होंने कहा, ‘हां, यह सच है कि श्रीदेवी का निधन हो गया। मैं अभी भारत आया हूं, मैं इससे पहले दुबई में ही था और अब फिर से वहां जा रहा हूं।’

Image result for Sridevi Funeral LIVE UPDATESलंबे इंतजार के बाद मंगलवार की रात श्रीदेवी का पार्थिव शरीर मुंबई लाया गया। एयरपोर्ट पर खुद अनिल कपूर परिवार के लोगों के साथ पहुंचे थे। एयरपोर्ट से एक्ट्रेस का शव लोखंडवाला के उनके घर ले जाया गया। बुधवार को सुबह से ही उनके अंतिम दर्शन के लिए सितारों और करीबियोंं का तांता लगा रहा।
Sridevi Funeral LIVE UPDATES:
– सुबह सेलीब्रेशन क्लब पहुंच पाने में असमर्थ अमिताभ बच्चन विले पार्ले श्मशान पहुंचे हैं। यहां वह श्रीदेवी के अंतिम दर्शन करेंगे। अमिताभ श्रीदेवी के साथ 6 फिल्मों में काम कर चुके हैं।
– श्मशान के अंदर सिर्फ श्रीदेवी के परिवार के लोगों के अलावा कुछ सेलीब्रिटीज़ को ही जाने की इजाजत दी गई है। लोगों की भीड़ को श्मशान भूमि के बाहर ही रोक दिया गया है। भीड़ को संभालने में पुलिस को मुश्किलों का सामना कर पड़ रहा है।
– श्रीदेवी के अंतिम संस्कार के लिए तमिलनाडु से पंडितों को बुलाया गया है। थोड़ी देर में श्रीदेवी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।
– श्मशान घाट पर फिल्मी सितारों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। शाहरुख खान भी श्रीदेवी के अंतिम दर्शन के लिए श्मशान पहुंचे।
– श्रीदेवी का पार्थिव शरीर विले पार्ले के पवन हंस श्मशान भूमि तक पहुंच गया है। थोड़ी देर में पंचतत्व में विलीन हो जाएंगी श्रीदेवी। पती बोनी कपूर देंगे चिता को आग।
Image result for Sridevi Funeral LIVE UPDATES– श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को सुहागन की तरह सजाया गया है। श्रीदेवी के शव का श्रृंगार लाल बनारसी साड़ी और लाल रंग की बिंदी से किया गया है। बता दें कि हिंदू रिति रिवाज के अनुसार सुहागन महिला की मौत पर उन्हें सुहागन की तरह सजाकर अंतिम संस्कार किया जाता है।
– श्रीदेवी के अंतिम सफर के मद्देनजर श्मशान तक के रास्ते पर जाम जैसी स्थिति बन गई है। पार्थिव शरीर को ले जा रहा ट्रक कापी धीमी रफ्तार में आगे बढ़ रहा है।
– श्रीदेवी के अंतिम यात्रा में लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है। श्मशान तक के पूरे रास्ते में उनके चाहने वाले अपनी श्रद्धांजलि देने के लिए सड़क के दोनों किनारे खड़े हैं।
– श्रीदेवी को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। ये राजकीय सम्मान मुंबई के पुलिस वालों ने दिया। बता दें कि श्रीदेवी पद्मश्री से समेमानित थीं इसलिए उन्हें ये सम्मान दिया गया।
– श्रीदेवी का पार्थिव शरीर दोपहर 2 बजे के बाद पवनहंस श्मशान के लिए रवाना हो गया। फार्थिव शरीर को सपेद फूलों से सजे वाहन से श्मशान तक ले जाया जा रहा है। श्रीदेवी के शव को तिरंगे से लपेटा गया है।
– अक्षय कुमार, प्रियंका चौपड़ा, शिल्पा शेट्टी, धनुष, काजोल, अजय देवगण से लेकर रणवीर सिंह, ऋतिक रोशन, कमल हसन, रजनीकांत जैसे कलाकारों ने श्रीदेवी को श्रद्धांजलि दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्विटर पर अपना दुख व्यक्त किया है। प्रियंका चौपड़ा ने जहां इसे काला दिन बताया है तो वहीं अक्षय कुमार ने कहा है कि उनके पास दुख व्यक्त करने के लिए शब्द ही नहीं है।

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है? सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केम

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST