Skip to main content

भारत में लॉन्च हुई 2017 Honda Dio, जानिए फीचर्स

Activa और Aviator को अपडेट कर भारतीय बाजार में अपडेट करने के बाद Honda मोटरसाइकल और स्कूटर ने दबे पांव अपडेट Dio स्कूटर को भी पेश कर दिया है. उम्मीद है कि ये जल्द ही शोरूम में दस्तक देगी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी के नए Dio को कंपनी के वेबसाइट पर अपडेट किया गया है.


नए Dio में पहले की ही तरह 109.20 cc इंजन पेश किया गया है, जो 7,000rpm पर 8bhp और 5,500rpm पर 8.91Nm टॉर्क पैदा करता है. हालांकि BS-IV वाला इंजन दिया गया है. मेजरमेंट की बात करें तो Honda Dio की लंबाई 1,781mm, चौड़ाई 710mm और उंचाई 1,133mm है, साथ ही इसका व्हीलबेस 1,238mm का है.
नए अवतार में लॉन्च हुए Honda Dio को दो नए कलर- पियर स्पोर्ट येलो और वाइब्रेंट ऑरेंज में पेश किया गया है.

Toyota Lexus की लग्जरी कारें अब भारत में दिखेंगी


नए स्कूटर के फीचर की बात करें तो पुराने मॉडल की तुलना में ग्राहकों को ज्यादा कुछ बदलाव तो नजर नहीं आएगा लेकिन इसके फ्रंट में LED की पोजिशन लाइट और डुअल टोन फिनिश देखने को मिलेगा. इसके अलावा साइड में नए स्पोर्टी ग्राफिक्स भी दिया गया है और चलते हुए चार्जिंग करने के लिए मोबाइल चार्जिंग सॉकेट भी दिया गया है.
नए 2017 Dio की कीमत 49,132 रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) रखी गई है.

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है? सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केम

18 अनसुनी बाते ताजमहल की! यह बाते आपने कही नहीं सुनी होगी!!!

ताजमहल सिर्फ़ प्यार की निशानी ही नहीं हैं, बल्कि इसका नाम दुनिया के सात अजूबों में भी शुमार किया जाता है. इस खूबसूरत और प्यार की कहानी बयां करने वाली इमारत को किसने किस लिए बनवाया हम सब जानते हैं पर इसके बावजूद बहुत सी ऐसी बातें भी है जिन्हें हम नहीं जानते. हम आज आपको ताजमहल के उन्हीं रहस्यों के बारे में बता रहे हैं, जो इस खूबसूरत इमारत की चकाचौंध में नहीं दिखाई पड़ते. 1. मुमताज़ के मकबरे की छत पर एक छेद मकबरे की छत की छेद से टपकते पानी की बूंद के पीछे कई कहानियां प्रचलित है, जिसमें से एक यह है कि जब शाहजहां ने सभी मज़दूरों के हाथ काट दिए जाने की घोषणा की ताकि वे कोई और ऐसी खूबसूरत इमारत न बना सके तो मजदूरों ने ताजमहल को पूरा के बावजूद इसमें एक ऐसी कमी छोड़ दी जिससे शाहजहां का खूबसूरत सपना पूरा न हो सके. Source:  wallpaperup 2. ताजमहल के चारों ओर बांस का घेरा द्वितीय विश्व युद्ध, 1971 भारत-पाक युद्ध और 9/11 के बाद इस भव्य इमारत की सुरक्षा के लिए ASI ने ताजमहल के चारों और बांस का सुरक्षा घेरा बना कर उसे हरे रंग की चादर से ढक दिया था, जिससे ताजमहल दुश्मनों को नज़र न आये और इसे किसी प्रकार की