Skip to main content

व्यक्ति विशेष: जानिए, सिर्फ 60 रूपये रोज पर मजदूरी करते थे कपिल शर्मा!

Image result for kapil sharma showएक बार फिर हंसाने की गारंटी लेकर वो लौट रहा है. देश का एक बड़ा चैनल उसके आने से घबरा गया है. उसका मुकाबला करने के लिए बाकी चैनल नई-नई तरकीब अपना रहे हैं. 23 अप्रैल को रात 9 बजे कपिल शर्मा की नए अवतार में सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर एंट्री हो रही है. देश का एक जानामाना मनोरंजन चैनल उसे अपने लिए खतरा मान रहा है. जिस समय कपिल शर्मा का नया शो लॉन्च होगा उस समय उसका मुकाबला करने के लिए एक प्रतिस्पर्धी चैनल बिना किसी ब्रेक के इस साल की सबसे कामयाब फिल्म पर दांव खेल रहा होगा.
ये दिखाता है कि मनोरंजन की दुनिया में कपिल शर्मा किस मुकाम पर हैं. कपिल शर्मा बॉलीवुड के सबसे बड़े गायक बनना चाहते थे पर बन गए वो हिन्दुस्तान के सबसे बड़े कॉमेडियन. आखिर एक मामूली सिपाही के बेटे ने मनोरंजन के कारोबार को किस तरह अपनी शर्तों पर चलने को मजबूर कर दिया है? करोड़ों उदास चेहरों को अपनी मुस्कुराहट से भर देने वाले कपिल शर्मा की जिंदगी की आखिर वो कौन सी बात है जो इस कॉमेडी किंग को उदासी से भर देती है?
आपकी उदास दुनिया को खुशनुमा संसार में बदलने वाला कॉमेडी नाइट्स विद कपिल का बिट्टू अब नए शो में कप्पू बन गया है. कप्पू अपने रिश्तेदार के यहां रहेगा लेकिन उसका कुनबा वही पुराना होगा. पुराने शो में दादी की भूमिका निभाने वाले अली असगर कप्पू के रिश्तेदार होंगे जो शांतिवन कोऑपरेटिव सोसाइटी में रहते हैं. कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में दर्शकों के मनोरंजन का जिम्मा जहां बिट्टू के परिवार ने संभाल रखा था वहां अब सबको हंसाने की जिम्मेदारी एक सोसाइटी की होगी.
कपिल का कॉमेडी परिवार गुत्थी के बिना शायद ही कभी पूरा हो सकता है. इसलिए नए शो में सुनील ग्रोवर को एक ऐसे डॉक्टर की भूमिका दी गई है जो अपने दो खूबसूरत नर्सों के साथ दर्शकों को लाफ्टर का इंजेक्शन लगाते हुए नजर आएंगे.
बिट्टू का नौकर अब बड़ा आदमी बन गया है. कपिल के नए शो में चंदन प्रभाकर सोसाइटी अब चाय का ठेला लगाएंगे. दर्शकों की पलकों में रहने वाली पलक इस शो में कई अवतार में लोगों को हंसाते नजर आएंगे.
कपिल के पुराने शो में जज की भूमिका में अपने ठहाकों से सबका मनोरंजन करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू की भूमिका अब जज से बदल कर सरपंच की हो गई है.
सोनी पर आने वाले इस शो से पहले कपिल शर्मा का शो कॉमेडी नाइट विथ कपिल कलर्स टीवी पर आता था. इस शो के करीब 250 एपिसोड प्रसारित किये जा चुके थे. मनोरंजन चैनलों के कार्यक्रमों ये सबसे लोकप्रिय शो बन चुका था. तभी अचानक जनवरी के आखिरी सप्ताह में इस शो को बंद कर दिया गया.
कॉमेडी नाइट विथ कपिल के बंद किये जाने के बाद दर्शकों में मायूसी छा गई. सवाल उठने लगा कि आखिर एक कामयाब शो को क्यों अचानक बंद कर दिया गया.
कपिल के शो के बंद होने के पीछे एक बड़ी वजह बताई गई कलर्स टीवी पर ही शुरू हुए इस नए शो को जिसका नाम है कॉमेडी नाइट्स बचाओ. ये शो कपिल के शो के खत्म के होने के बाद उसी चैनल पर दिखाया जाता था. कहा जा रहा है कि एक ही चैनल पर कॉमेडी के दूसरे शो के शुरू होने से कपिल नाराज हो गए. कपिल शर्मा ने आरोप लगाया कि एक ही चैनल पर एक ही जैसे दो कार्यक्रमों के बीच जानबूझ कर प्रतिस्पर्धा शुरू कर दी गई.
कलर्स टीवी ने कपिल शर्मा के इन आरोपों को खारिज कर दिया. कलर्स के सीईओ राज नाईक ने आरोप लगाया कि कपिल शर्मा ने कंपनी के साथ करार किये गए कॉन्ट्रैक्ट की शर्तों को तोड़ कर दूसरे चैनलों के लिए काम करना शुरू कर दिया था. उन्होंने शो में बने रहने की अपनी फीस भी दोगुनी कर दी थी जिसे कंपनी ने मान लिया था उसके बाद भी कपिल ने चैनल के प्रति ईमानदारी नहीं दिखाई. कंपनी ने ये भी आरोप लगाया कि कपिल शर्मा अपनी लोकप्रियता को नहीं पचा पाए.
कपिल शर्मा आज अपनी शर्तों पर शो बनाते हैं और उसे छोड़ते हैं. कहा जा रहा है कि सोनी ने अपने इस शो के लिए कपिल शर्मा को मुंहमागी रकम दी है. कपिल को इस बात की पूरी छूट होगी कि वो अपने इस शो में किस मेहमान को बुलाएं और किसे नहीं?
शाहरुख खान को अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए कपिल शर्मा की जरूरत पड़ती है. बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार को अपनी फिल्म हिट कराने के लिए कॉमेडी के इस खिलाड़ी की मदद की जरूरत पड़ती है.
बॉलीवुड के शहंशाह हों या फिर बॉलीवुड के दबंग खान. हर किसी को अपनी आने वाली फिल्मों के लिए कपिल के कॉमेडी दरबार में हाजिरी लगानी पड़ती है.
कॉमेडी किंग कपिल शर्मा की ये दास्तान एक एक साधारण इंसान की असाधारण कहानी है. कॉमेडी से लेकर बॉलीवुड की सुनहरी दुनिया में कपिल शर्मा का आज डंका बज रहा है. टीवी के छोटे परदे से लेकर फिल्म के बड़े पर्दे तक उनकी शख्सियत के चर्चे हैं. फोर्ब्स इंडिया ने भी उन्हें देश के सौ सबसे असरदार लोगों में जगह दी है लेकिन कपिल शर्मा की इस चमकती कामयाबी के पीछे एक ऐसा अंधेरा भी छिपा है जिसने उनके दिल को आज भी बेकरार कर रखा है. अपनी कॉमेडी से सबको हंसाने वाले कपिल के सीने में रिश्ते का एक ऐसा जख्म दबा है जो आज भी उनके सीने में एक हूक बन कर उभर उठता है. सबको हंसाने और गुदगुदाने वाले कपिल शर्मा की जिंदगी में कैसे और क्यों छाई थी कभी वीरानी.
कपिल की कहानी शुरू होती है मुंबई से 1700 किलोमीटर दूर पंजाब के शहर अमृतसर से. 35 साल के कपिल का जन्म अमृतसर में हुआ था. उनका बचपन अमृतसर के इसी पुलिस कॉलोनी में खाकी वर्दी पहनने वालों के बीच बिता. पिता पंजाब पुलिस में एक मामूली सिपाही थे. शायद यही वजह है कि कॉमेडी सर्कस के शमशेर सिंह के किरदार का जन्म बिट्टू के बचपन में ही हो गया था.
पंजाब का शहर अमृतसर… और अमृतसर का कॉलेज कभी कपिल शर्मा के छात्र जीवन का अहम पड़ाव रहा है. वो साल 1998 था जब कपिल शर्मा हिंदू कॉलेज में कामर्शियल आर्ट की पढ़ाई कर रहे थे और कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही एक लड़की को अपना दिल दे बैठे थे.
अपनी माशूका के हाथों मोहब्बत में चोट खाने वाले कपिल शर्मा ने इस दर्द को तो हंसते – हंसते सह लिया था लेकिन उनके अहसास को उस चोट के दर्द ने हिला कर रख दिया जब उनके पिता ने वक्त से पहले ही दुनिया को अलविदा कह दिया था. वो साल 2004 था जो कपिल औऱ उनके परिवार पर किसी कयामत की तरह गुजरा था. दिल्ली के सफदर जंग अस्पताल में कपिल शर्मा के पिता जितेंद्र कुमार शर्मा ने अंतिम सांसे ली थी. दरअसल कपिल के पिता को कैंसर हो गया था लेकिन जब तक इस बीमारी के बारे में उनके परिवार को पता चलता तब तक काफी देर हो चुकी थी.
साल 2004 में कपिल और उनके परिवार को दोहरी मुश्किलों ने घेर लिया था. एक तरफ पिता का साया सिर से उठ गया तो वहीं दूसरी तरफ आर्थिक तंगी की वजह से उनके परिवार के लिए घर खर्च चलाना दुश्वार हो चुका था. तीन भाई – बहनों के परिवार का खर्च चलाने के लिए उनकी मां को मिलने वाली साढ़े तीन हजार रुपये की पेशन नाकाफी थी. उनका वो आशियाना भी अब छिन चुका था जो उनके पिता को सरकार की तरफ से रहने के लिए मिला था लेकिन ऐसे मुश्किल हालात के बीच भी कपिल ने अपने दिल के साथ दगा नहीं किया.
अभिनेता कपिल शर्मा बताते हैं कि जब वो गए तो 2004-07 तक का टाइम 1997 से वो बिमार थे और 2004 तक उऩ्होंने काफी संघर्ष किया और बड़े जिंदादिल आदमी थे तो उसके बाद 2004-2007 तक का बड़ा मुश्किल टाइम था क्योंकि पापा ही नहीं थे तो जॉब भी नहीं थी खाली पेंशन आती थी मम्मी की वही करीब 3500-4000 हजार रुपए तो वो टाइम बड़ा मुश्किल था सरकारी क्वार्टर भी हमें खाली करना था तो इसके बाद मुझे लगता है कि ये उन्ही की ब्लैसिंग है मेरी बहन का हम लोगों ने सगाई कर दी थी औऱ उसकी शादी करनी थी.
कपिल के परिवार में आर्थिक हालात नाजुक थे. बहन के हाथ भी पीले करने थे लेकिन कमाई का कोई जरिया ना था लेकिन ऐसी मुश्किलों के बीच साल 2007 में वो पल भी आया जब कपिल शर्मा की किस्मत ने अचानक करवट बदल ली. स्टार टीवी पर आने वाले मशहूर कॉमेडी शो द ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज थ्री में कपिल शर्मा विजेता बन कर उभरे और फिर अगले कुछ ही सालों में वो कॉमेडी की दुनिया पर छा गए.
कपिल शर्मा की ये कामयाबी महज एक इत्तेफाक नहीं था बल्कि इसके पीछे उनके संघर्ष की वो सीढी रही है जिसका बोझ वो 14 बरस की कम उम्र से ही अपने कंधों पर उठाते रहे हैं.
अमृतसर का पीएनबी सीनियर सेकेंडरी स्कूल जहां से कपिल शर्मा ने अपने स्कूल की पढाई पूरी की है लेकिन जब वो दसवीं क्लास में पढ़ रहे थे तभी से उन्होंने शहर के एक पीसीओ में काम करना भी शुरु कर दिया था. कपिल शर्मा का कहना है कि वो ये काम महज अपने शौक पूरे करने के लिए किया करते थे. इसीलिए जब स्कूल में गर्मियों की छुट्टियां लगती तो वो साठ रुपये रोज की मजदूरी पर कपड़ा मिलों में रंगाई का काम भी करने जाते थे.
ये अमृतसर पंजाब नाटशाला है जिसकी सीढियों पर बैठ कर कपिल शर्मा ने अपनी जिंदगी का एक लंबा वक्त गुजारा हैं, इसी नाटशाला में उन्होंने अपने अभिनय को हर दिन एक नई धार भी दी है औऱ यहीं से उन्हें पहली बार एक कलाकार के तौर पर पहचान भी मिली थी.
टीवी के परदे का सबसे पहला और सबसे बड़ा कॉमेडी शो द ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज था इस शो ने कपिल शर्मा की जिंदगी और उनके करियर को एक नया आयाम दिया था.
सोनी टीवी पर आने वाले शो कॉमेडी सर्कस में यूं तो कॉमेडी की दुनिया के एक से बढ कर एक कलाकार मौजूद थे लेकिन कपिल शर्मा की अदाकारी और उनकी हाजिर जवाबी ने इस शो में भी उनके प्रशंसकों का एक अलग वर्ग तैयार कर दिया था. इस शो में मिली एंट्री के पीछे भी एक लम्बी दास्तान छिपी है.
जिन दिनों कपिल शर्मा थियेटर की दुनिया में संघर्ष कर रहे थे उस दौर में टीवी के परदे पर कॉमेडी शो द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज की धूम मची थी. साल 2006 में स्टैंडअप कॉमेडी के तड़़के वाला ये शो इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के टॉप कार्यक्रमों में शुमार किया जाता था. साल 2007 में लॉफ्टर चैलेंज सीजन थ्री के लिए जब अमृतसर में ऑडिशन हो रहे थे तब अपने दोस्तों के कहने पर कपिल शर्मा भी ऑडिशन देने पहुंचे थे लेकिन वो ऑडिशन में रिजेक्ट कर दिए गए हांलाकि उनके स्कूल के दोस्त चंदन सलेक्ट हो गए थे. ये वही चंदन हैं जिन्होंने आगे चलकर कॉमेडी नाइट विथ कपिल में राजू नौकर का किरदार निभाया.
अमृतसर के स्कूल और कॉलेज में अपनी कॉमेडी का हुनर दिखाने वाले कपिल के लिए द ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज बड़ी चुनौती थी. अपने ही शहर में हुए ऑडिशन में रिजेक्ट होने के बाद वो इस शो के लिए दोबारा ऑडिशन देने दिल्ली जा पहुंचे थे और इस बार किस्मत को भी कपिल से हार माननी पड़ी. कपिल शर्मा ना सिर्फ द ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज तीन में सलेक्ट हुए बल्कि उन्होंने इस शो का खिताब भी अपने नाम कर लिया. इसके साथ ही कपिल ने रोशन लाल और शमशेर सिंह जैसे नए किरदारों को जन्म दिया. उनका किरदार आम आदमी होता. यही वजह थी कि दर्शकों ने उन्हें देखते ही देखते अपने सर पर बिठा लिया.
लॉफ्टर चैलेंज की जबरदस्त कामयाबी ने कपिल शर्मा के लिए फिल्मों के दरवाजे भी खोल दिए थे लेकिन दूसरे हास्य कलाकारों के उलट उन्होंने फिल्मों के उन ऑफर को ठुकरा दिया था.
लॉफ्टर चैलेंज की चुनौती के बाद कपिल शर्मा टीवी के परदे पर कम ही नजर आए लेकिन कॉमेडी के उनके करियर को उस वक्त पंख लग गए जब कॉमेडी सर्कस नाम का उनका कॉमेडी शो टेलीविजन इंडस्ट्री में लोकप्रियता के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ता चला गया.
कॉमेडी शो का इतिहास बताता है कि लंबे समय तक कॉमेडी शो नहीं चल पाते हैं. कॉमेडी के दोहराव का डर बना रहता है पर कपिल ने उस धारणा को तोड़ दिया. कॉमेडी नाइट्स विद कपिल नॉन फिक्शन कटैगरी में करीब ढाई सौ एपीसोड पूरा करने वाला अकेला शो माना जाता है.
कपिल शर्मा के शो कॉमेडी विथ कपिल का फॉर्मेट ब्रिटेन के मशहूर टेलीविजन शो ‘द कुमार्स एट नंबर 42’ से लिया गया था. इसमें वेम्ब्ले में रह रही ब्रिटिश भारतीय परिवार की कहानी थी लेकिन कपिल शर्मा ने अपने इस शो में पंजाबी तड़का मारा था. शो के पंजाबी परिवार में बिट्टू था, उसकी दादी अली असगर थीं. इसमें अविवाहित बुआ का किरदार उपासना सिंह निभा रही थीं और सुनील और किकू बिट्टू के पड़ोसी बने थे.
कॉमेडियन से एक्टर और गायक बने कपिल शर्मा आज सफलता के सातवें आसमान पर हैं लेकिन वो अपने साथियों को कभी नहीं भूलते. वो टीम भावना में यकीन रखते हैं. दर्शकों को अब कपिल शर्मा की नई पारी का इंतजार है.

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास
आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है?

सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केमिकल के कारण होता…

कैसे खोलें डीमेट अकाउंट?

DEMAT अकाउंट कहाँ और कैसे ओपन किया जाता है,इस पोस्ट में हम जानेंगे- DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक DOCUMENTS DEMAT अकाउंट फ़ीस कितना होता है, DEMAT अकाउंट नॉमिनेशन आइये सबसे पहले देखते है-  DEMAT अकाउंट कहा ओपन किया जाता है,भारत में SEBI द्वारा बनाए गाइडलाइन के अनुसार Demat Account सर्विस दो प्रमुख संस्थाओ द्वारा दी जाती है, ये दोनों संस्था है, NSDL (The National Securities Depository Limited)CDSL (Central Depository Services (India) Limited)अगर आपने ध्यान दिया होगा, तो आपको  पता होगा कि, PAN CARD भी इन्ही दोनों संस्थाओ में प्रमुख रूप से NSDL द्वारा बनाया गया होता है, और हो सकता है आपने पैन कार्ड के सम्बन्ध में NSDL का नाम पहले जरुर सुना होगा, खैर बता दे कि जिस तरह PAN CARD बनाने के लिए आप किसी एजेंट की मदद से ऑनलाइन एप्लीकेशन देते है, और कुछ दिनों में आपका पैन कार्ड बन जाता है, वैसे ही आपको DEMAT अकाउंट खोलने के लिए आपको डायरेक्टली NSDL और CDSL के पास जाने की जरुरत नहीं , और आप DEMAT अकाउंट खोलने का एप्लीकेशन किसी भी प्रमुख बैंक और स्टॉक ब्रोकर के पास कर सकते है, और अगर बात की जाये स्टॉक ब्र…