Skip to main content

अगर आपके घर में भी है शादी तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

Image result for marriage
शादी का सीजन चल रहा है। आपके घर भी आने वाली है डोली या करनी है विदाई और शादी की तारीख तय हो चुकी है। अब चिंता है तो बस इस बात की कि कैसे भी करके सब कुछ अच्छे से हो जाए और यादगार भी बन जाए।

 आप भी शादी की शॉपिंग और वेन्यू से लेकर हर तरह के इंतजाम कर रहे होंगे। काम इतने सारे हैं और दिन कम। अगर आपने वेडिंग प्लानर या इवेंट मैनेजमेंट टीम की मदद नहीं ली है तो कोई बात नहीं, हड़बड़ी में तैयारी करने से बेहतर है कि सब काम योजनाबद्ध तरीके से किए जाएं। बेहतर रहेगा कि अभी से योजना बना लें और हर काम की प्राथमिकता तय कर लें।


बना लें बजट
हर काम से पहले जरूरी होता है बजट। आप किस तरह की शादी प्लान कर रहीं हैं, इसको सुनिश्चित करने के लिए अपना बजट तय कर लें और यह भी निर्धारित कर लें कि किस काम के लिए बजट का कितना हिस्सा निकालना है। इसी हिसाब से घर के सभी लोगों में काम की जिम्मेदारी बांट दें और सभी जरूरी कामों पर बजट का हिस्सा निकाल लें। इसके बाद ही अन्य कामों के लिए इंतजाम करें। इससे काफी आसानी हो जाती है, क्योंकि फिर आप अपने बजट के हिसाब से ही अपनी मेहनत और समय खर्च करेंगी। इसके अलावा घर के एक सदस्य को मेहमानों की लिस्ट तैयार करने को कहें। इससे आपको केटरिंग, वेडिंग स्थल से लेकर तोहफों से संबधिंत आगे की तैयारियों में काफी आसानी हो जाएगी।

बुकिंग कर लें अभी



अब जब आपने बजट बना लिया है तो उसी के हिसाब से शादी के अन्य आयोजनों की भी योजना बनाएं। इसके लिए बुकिंग का काम पहले निपटा लें। एक गेस्ट हाउस के संचालक दिनेश कटियार बताते हैं, 'शादी की तैयारियों में सबसे अहम होता है कि आप कैसा विवाह स्थल चुन रहे हैं। अगर शादी घर के बजाय गेस्ट हाउस या अन्य विवाह स्थल पर करवानी है तो अभी से ही इसकी खोजबीन शुरू करें और अपने बजट और सुविधा के हिसाब से पसंद आने पर तुरंत बुक कर दें। ताकि एक परेशानी कम हो। हमारे यहां अभी से ही महीने के आखिरी दिनों की और जनवरी की बुकिंग हो चुकी है।

 शादी में सबसे यादगार होता है खाना। केटरर का चुनाव करने के दौरान खाने की क्वालिटी के साथ ही प्रेजेंटेशन पर भी ध्यान दें। इस बात का ध्यान रखें कि कितने मेहमान आ रहे हैं साथ ही खाना वेज होगा या नॉनवेज। इससे किसी तरह की असुविधा भी नहीं होगी और न ही खाने की बर्बादी होगी। कई बार विवाह स्थल वाले अपने केटरर की सुविधा देते हैं। अगर आपको किसी भी केटरर के बजाय खास केटरर का इंतजाम करवाना है तो उनको भी अभी से बुक कर लें। इसके अलावा शादी के लिए फोटोग्राफर की बुकिंग भी अभी से कर लें। जिसमें अपनी पसंद के हिसाब से फोटोशूट के बारे में भी पूरी बात और दिन निर्धारित कर लें। डेकोरेशन के लिए बजट के हिसाब से फूल और लाइटिंग भी बुक कर दें।'

जांच-परखकर हो शॉपिंग

प्री बुकिंग का काम तो पूरा हो गया, अब बारी है खरीददारी की। घर के लिए जरूरी सामान लेने हैं और फिर शादी के कपड़ों और गहनों के लिए खरीददारी भी तो करनी है। अपने बेटे की शादी की तैयारी में जुटीं पनकी की रमादेवी बताती हैं, 'इस महीने के आखिरी सप्ताह में मेरे बेटे की शादी है। ऐसे में कपड़ों व अन्य सामानों की शॉपिंग के लिए पहले ही लिस्ट बना ली है ताकि फिजूलखर्ची न हो। इसमें गहने, एक्सेसरीज, जूते और कपड़ों से लेकर हर छोटी-बड़ी चीज शामिल है। लिस्ट बनाकर चलने से बाजार में समय की भी काफी बचत होती है और खरीददारी में कोई सामान नहीं छूटता। शादी में पैसे कहां खर्च हो जाते हैं पता नहीं चलता। ऐसे में किफायती शॉपिंग के लिए मैं कई दुकानों का जायजा ले रही हूं। अलग-अलग वैरायटी देखकर और कीमतों की तुलना करके ही खरीददारी कर रही हूं।' अगर आप हर दुकान पर जाकर होने वाली थकान से बचना चाहती हैं तो ऑनलाइन शॉपिंग का रुख करें। घर बैठे सबकी पसंद के अनुसार विश्वसनीय ई-पोर्टल पर कपड़ों के अलावा बेल्ट, बैग, घड़ी, तोहफे, होम डेकोर जैसी चीजें खरीद सकती हैं। हालांकि कॉस्मेटिक की खरीददारी अपनी जरूरत और त्वचा की प्रकृति के हिसाब से करें और वह भी किसी अच्छी दुकान से।


लें वेडिंग प्लानर की मदद


अगर आप शादी के वेन्यू, मेन्यू, डेकोरेशन जैसी तमाम परेशानियों से दूर रहकर अपने मेहमानों और शादी को एंज्वॉय करना चाहते हैं तो मदद लें वेडिंग प्लानर की। चाचा भतीजा इवेंट मैनेजमेंट के संचालक आशीष दीक्षित कहते हैं, 'वेडिंग प्लानर हायर करने का ट्रेंड मेट्रो सिटीज से होता हुआ हमारे शहर में भी आ चुका है

 किसी वेडिंग प्लानर या इवेंट मेनेजमेंट कंपनी को हायर करने से न केवल आपको समारोह के बारे में मार्गदर्शन मिलता है साथ ही बैठे-बैठे हर सुविधा क्वालिटी के आधार पर अच्छे से मिल जाती है। ये प्रोफेशनल आपके बजट के हिसाब से
ही आपको सुविधाएं प्रोवाइड करवाते हैं। वेडिंग प्लानर हायर करने से पहले ध्यान रखें कि आप उसका काम देखें
और यह भी देखें कि जिस बजट में आप वेडिंग प्लानर हायर कर रही हैं, उसमें क्या-क्या सुविधाएं मिलेंगी। मसलन क्या वह केटरिंग, डेकोरेशन, मेकअप आर्टिस्ट खुद देंगे या नहीं? हर चीज जांच परखकर ही चुनें, ताकि आपका समारोह उतना ही अच्छा संपन्न हो, जितना आपने सोचा था।'

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास
आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है?

सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केमिकल के कारण होता…

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST