Skip to main content

अपनी पैनड्राइव को रैम की तरह प्रयोग कैसे करें


अपनी पैनड्राइव को रैम की तरह प्रयोग कैसे करें  - How To Use Pen drive As RAM 
आपके Computer की रैम बहुत कम होने के कारण आपके Computer की Speed स्‍लो है और आप बहुत दिनों से RAM लगवाने की सोच रहे हैं, लेकिन समय नहीं मिल पा रहा है तो कोई बात नहीं एक बहुत जबरदस्‍त ट्रिक से, आप अपनी pendrive को भी RAM की तरह इस्‍तेमाल कर सकते हैं, और Computer की Speed को बढा सकते हैं, इसके लिये आपको कुछ स्‍टैप फॉलो करने होगें -




अपने Computer के USB पोर्ट में अपनी pendrive लगाइये, यह कम से कम 2 GB का हो तो अच्‍छा होगा।

अब My Computer के Icon पर Right click कीजिये। 
अब खुली context menu में से Properties पर क्लिक कीजिये। 
Properties पर क्लिक करते ही एक विण्‍डो ओपन होगी, (विण्‍डोज 7 तथा 8 में इस स्‍टैप के बाद आपको Properties पर क्लिक करने के बाद Advanced System Settings पर क्लिक करना होगा विण्‍डोज xp में ऐसा नहीं करना है) 

इस विण्‍डो में Advanced tab पर क्लिक कीजिये। अब Performance की Settings बटन पर क्लिक कीजिये।

Performance Option विण्‍डो ओपन होगी, इस विण्‍डो में Advanced tab पर क्लिक कीजिये।
इसके बाद Virtual memory के अन्‍दर Change button बटन पर क्लिक कीजिये।


यहॉ Automatically manag paging file size for all drives पर टिक अगर लग रहा हो तो हटा दीजिये।
अब अपनी pendrive को दी गयी लिस्‍ट में से सलैक्‍ट कीजिये।
अब custom size पर क्लिक कीजिये और वैल्‍यू दीजिये, यह वैल्‍यू आपकी pendrive के खाली स्‍पेस के बराबर तक हो सकती है।
अब सैट बटन पर क्लिक कर दीजिये।
अब इसके बाद आप अपने Computer को Restart कर दीजिये, लेकिन pendrive को मत निकालिये।
जब Computer दोबारा चालू होगा तो आपके Computer की Speed बढ चुकी होगी, और आपकी pendrive आपकी रैम की तरह काम कर रही होगी।

नोटिस- यह तरीका हमने इंटरनेट के माध्यम से लिया है इससे अगर आपके कोम्प्यूटर या पेन ड्राइव को नुकशान होता है तो इसके जिम्मेवारी आपकी स्वयम की होगी.

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास
आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है?

सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केमिकल के कारण होता…

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST