Skip to main content

10वीं पास के लिए क्लर्क के पद पर वैकेंसी, 03 जून तक करें आवेदन

Image result for national book trust
राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (नेशनल बुक ट्रस्ट - एनबीटी) में लोअर डिविजनल क्लर्क (एलडीसी) के पद पर भर्तियां निकाली गई हैं.

 वैकेंसी की कुल संख्या 13 है जिनमें से 6 पद अनारक्षित है जबकि 5 पद ओबीसी और 1 पद एसटी कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं. आवेदन की अंतिम तिथि 03 जून, 2017 है. 

योग्यता 
आवेदन करने के लिए उम्मीदवार का कम से कम 10वीं पास होना अनिवार्य है. साथ ही उसे 25 शब्द प्रति मिनट की गति से हिंदी टाइपिंग या 30 शब्द प्रति मिनट की गति से इंग्लिश टाइपिंग आती हो. 

आयु की न्यूनतम सीमा 18 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष निर्धारित की गई है. 

वेतनमान: 5200-20200 + ग्रेड पे 900/- रुपये



Image result for national book trust

   चयन: उम्मीदवारों का सेलेक्शन लिखित परीक्षा और टाइपिंग
                 परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर होगा. 

       यहां भेजें आवेदन - Assistant Director (Establishment)
                                    National Book Trust, India
                            Nehru Bhawan, 5, Institutional Area


                          Phase-II, Vasant Kunj, New Delhi - 110070



एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने करने के लिए http://nbtindia.gov पर लॉग इन करें.

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास
आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है?

सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केमिकल के कारण होता…

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST