Skip to main content

Jio ने लगाया Airtel पर बड़ा आरोप, कहा- 293 और 449 रुपए वाले प्लान में कंपनी ग्राहकों को कर रही है गुमराह

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो Reliance Jio और भारती एयरटेल Bharti Airtel के बीच एक नया विवाद शुरू हो गया है।  रिलायंस जियो ने आरोप लगाया है कि भारती एयरटेल गुमराह करने वाले ऑफर पेश कर दर निर्धारण संबंधी नियमों का उल्लंघन कर रही है और एक जैसा प्लान लेने वाले अपने ही ग्राहकों के बीच मनमाने ढंग से भेदभाव कर रही है।

शुरू हुआ नया विवाद
विज्ञापन को लेकर शुरु हो गया है। रिलायंस जियो ने आरोप लगाया है कि भारती एयरटेल गुमराह करने वाले ऑफर पेश कर दर निर्धारण संबंधी नियमों का उल्लंघन कर रही है और एक जैसा प्लान लेने वाले अपने ही ग्राहकों के बीच मनमाने ढंग से भेदभाव कर रही है।
जियो ने लगाया आरोप
उसने कहा कि एयरटेल के इन ऑफरों के विज्ञापन भावी ग्राहकों के मन में यह विश्वास जगाकर उन्हें लुभाने की कोशिश है कि उन्हें 70 दिनों तक प्रतिदिन एक जीबी डाटा मिलेगा। जियो ने कहा, लेकिन जो ग्राहक एयरटेल के दोहरे मापदंड को पूरा नहीं करते हैं, उन्हें बस 50 एमबी डाटा मिलेगा ओर उसके बाद उनसे 4000 रुपए प्रति जीबी की ऊंची दर से शुल्क लिया जाएगा।
एयरटेल कर रही है नियमों का उल्लंघन
जियो ने कहा कि एक तरफ एयरटेल 4जी हैंडसेंट और 4जी सिमकार्ड वाले नए ग्राहकों को ही 70 दिनों के लिए प्रति दिन एक जीबी डाटा लाभ दे रही है, दूसरी तरफ वह अन्य ग्राहकों को 35 दिनों के लिए महज 50 एमबी डाटा दे रही है. इस तरह वह अपने ग्राहकों के बीच ही बहुत भेदभाव कर रही है. उसका कहना है कि ऐसे में ट्राई को एयरटेल पर दूरसंचार दर आदेश, 1999 का उल्लंघन करने के तहत जुर्माना लगाना चाहिए।
एयरटेल पर लगें भारी जुर्माना
मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस जियो ने दूरसंचार नियामक ट्राई से सुनील भारती मित्तल की भारती एयरटेल पर बड़ा जुर्माना लगाने की मांग की है. रिलायंस जियो ने आरोप लगाया है कि एयरटेल के 293 और 449 रुपये के प्लान गुमराह करने वाले तरीके से बाजार में बेचे जा रहे हैं।
एयरटेल ने आरोपों को बताया निराधार
भारती एयटेल के प्रवक्ता ने इन आरोपों से इनकार किया और कहा कि यह नेटवर्क त्रुटि समेत अपनी समस्याओं के लिए दूसरे को जिम्मेदार ठहराने की रिलायंस जियो की साजिश का हिस्सा है। इससे बड़ी विडंबना क्या हो सकती है कि रिलायंस जियो पहले कई महीनों तक फ्री सेवाएं देती रही है और वह दूसरे संचालकों पर अंगुली उठा रही है।

READ SOURCE

Comments

Popular posts from this blog

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास

जायफल: स्वादिष्ट मसाले का खून भरा इतिहास आज हम ऐसे मसाले की बात करने वाले हैओ जिसे आम तौर ख़िर में छिड़का जाता है । जी हाँ , जायफल की ! आपको शायद ताजुब्ब होगा कि ज्यादातर लोग शायद इसकी उत्पत्ति के बारे में विशेष रूप से कुछ नही जाने हैं ।समें कोई संदेह नहीं है – यह सुपरमार्केट में मसाला गलियारे से आता है, है ना? लेकिन इस मसाले के पीछे दुखद और खूनी इतिहास छुपा छह है । लेकिन सदियों से जायफल की खोज में हजारों लोगों की मौत हो गई है। जायफल क्या है? सबसे पहले हम जानते है कि आखिर ये जायफ़ल है क्या ? तो ये नटमेग मिरिस्टिका फ्रेंगनस पेड़ के बीज से आता है । जो बांदा द्वीपों की लंबीसदाबहार प्रजाति है जो इंडोनेशिया के मोलुकस या स्पाइस द्वीप समूह का हिस्सा हैं। जायफल के बीज की आंतरिक गिरी को जायफल में जमीन पर रखा जाता है ।जबकि अरिल (बाहरी लेसी कवर) से गुदा निकलता है। जायफल को लंबे समय से न केवल भोजन के स्वाद के रूप में बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी महत्व दिया गया है। वास्तव में जब बड़ी मात्रा में जायफल लिया जाता है तो जायफल एक ल्यूकोसिनोजेन है जो मिरिस्टिसिन नामक एक साइकोएक्टिव केम

P M JAY HOSPITAL LIST

P M JAY HOSPITAL LIST